सेंधा नमक के फायदे

नमक को सेहत का दुशमन माना जाता है और अधिक नमक खाना सेहत पर गलत असर डाल सकता है। इसलिए सभी डाक्टर नमक के अधिक सेवन करने से मना करते हैं। लेकिन एक एैसा नमक भी है जो आपको कई गंभीर बीमारियों से बचा सकता है। आयुर्वेद में सेंधा नमक को सबसे उत्तम माना गया है। सेंधा नमक लाखों साल पुराना समुद्री नमक है जो पृथ्वी की गहराइयों में दबकर बनता है। यह नमक स्वास्थवर्धक और भोजन का स्वाद बढ़ाने वाला होता है। बहुत ही कम लोगों को इस बारे में पता है कि सेंधा नमक इंसान को कई रोगों से बचा सकता है।

 

समुद्री नमक जिसे हम भोजन में अधिकतर इस्तेमाल में लाते हैं उससे लकवा, डाइबिटीज और उच्च रक्तचाप आदि जैसी गंभीर बीमारियों का खतरा रहता है। ऐसे में सेंधा नमक का इस्तेमाल करने से ब्लड प्रेशर नियंत्रण में रहता है। सेंधा नमक की शुद्धता की वजह से इसे व्रत के भोजन में प्रयोग किया जाता है।

सेंधा नमक को लाहौरी नमक भी कहा जाता है। क्योंकि यह पुराने समय में अक्सर लाहौर से पूरे भारत में बेचा जाता था। सेंधा नमक दो रंगों में पाया जाता है लाल रंग और सफेद रंग।

सेंधा नमक के फायदे

 इंसान के शरीर के लिए नमक बेहद जरूरी है। आजकल के आयोडीनयुक्त नमक से कई ज्यादा अच्छा है सेंधा नमक। यह शरीर की कोशिकाओं के द्वारा अच्छे से पच जाता है। सेंधा नमक में 65 प्रकार के प्राकृतिक खनिज तत्व पाए जाते हैं। इसलिए यह कई जानलेवा बीमारियों से बचाता है। वैदिक वाटिका आप तक सेंधा नमक के एैसे फायदों को पहुंचा रहा है जो आपकी सेहत के लिए बेहद जरूरी हैं।

सेंधा नमक के लाभ

1. सेंधा नमक हड्डियों को मजबूत रखता है।
2. मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या सेंधा नमक के सेवन से ही ठीक हो सकती है।
3. नियमित सेंधा नमक का सेवन करने से प्राकृतिक नींद आती है। यह अनिंद्रा की तकलीफ को दूर करता है।
4. यह साइनस के दर्द को कम करता है।
5. शरीर में शर्करा को शरीर के अनुसार ही संतुलित रखता है।
6. पाचन तंत्र को ठीक रखता है।
7. यह शरीर में जल के स्तर की जांच करता है जिसकी वजह से शरीर की क्रियाओं को मदद मिलती है।
8. पित्त की पत्थरी व मूत्रपिंड को रोकने में सेंधा नमक और दूसरे नमकों से बेहद उपयोगी है।
9. पानी के साथ सेंधा नमक लेने से रक्तचाप नियंत्रित रहता है।

सेंधा नमक समुद्री नमक होता है इसलिए इसमें सेहत को ठीक रखने के लिए बेहद उपयोगी खनिज तत्व होते हैं। सेंधा नमक और दूसरे आयोडीनयुक्त नमक से बेहद सस्ता भी और फायदेमंद भी होता है।

1. सेंधा नमक का सेवन दमा के रोगीयों के लिए बेहद फायदेमंद होता है।
2. यह नमक वजन को नियंत्रित करता है क्योंकि यह शरीर में पाचक रसों का निर्माण करता है। जिससे खाना जल्दी पच जाता है और कब्ज भी दूर हो जाती है।
3. सेंधा नमक को पानी के साथ लेने से कोलेस्ट्रोल कम होता है और हाई ब्लडपे्रशर भी नियंत्रित रहता है। इसलिए यह दिल के दौरे को रोकने में मदद करता है साथ ही अनियमित दिल की धड़़कनों को नियंत्रित करता है।
4. डायबिटीज के मरीजों को सेंधा नमक अपने भोजन में जरूर शामिल करना चाहिए।  ये भी पढ़ेंआर्थराइटिज का सफल इलाज

मानसिक तनाव कम करे
तनाव को कम करने के लिए सेंधा नमक का सेवन बेहद जरूरी है क्योंकि यह तनाव का सामना करने वाले हार्मोन्स सेरोटोनिन और मेलाटोनिन को शरीर में बनाए रखता है। और इसके नियमित सेवन से तनाव रहित नींद भी आती है।

सेंधा नमक के अन्य लाभ 

  • सेंधा नमक खून के विकार को भी दूर करता है। इसकी तासीर ठंडी होती है।
  • सेंधा नमक का नियमित सेवन करने से फेफड़ों के रोग, चर्म रोग और शरीर मे दर्द आदि नहीं होते हैं।
  • पायरिया की समस्या से दांतों में काले धब्बे बन जाते है। ऐसे में सरसों के तेल में सेंधा नमक मिलाकर दांतों पर मलें। इस उपाय को कुछ दिनों तक लगातार करते रहें।
  • सेंधा नमक में मौजूद गुण नाखूनों के पीलेपन को हटाता है। 
  • सेंधा नमक कफ और वात दोष को भी खत्म करता है।

सेंधा नमक में कृमि रोग, दस्त और पित्त दोष को खत्म करने की क्षमता होती है। सेंधा नमक आंखों के लिए भी उत्तम माना जाता है। यदि आप नियमित रूप से सेंधा नमक का इस्तेमाल करते हैं तो यह त्वचा रोग, मोटापा और शरीर में अकड़न जैसे कई गंभीर बीमारियों को खत्म करता हैं

सेंधा नमक प्राकृति का वरदान है इसलिए आप अपने भोजन में सेंधा नमक का सेवन करना न भूलें। आपकी सेहत वैदिकवाटिका के लिए अहम है और हम आपकी सेहत के लिए आपको वैदिक जानकरी देते रहेगें। sehatsansar.com

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।