गाय का घी

गाय का दूध जितना पौष्टिक होता है उससे कई ज्यादा ताकतवर गाय का घी होता है। भारत में गाय को प्राचीन समय से ही पूजा जाता रहा है जिसका अपना धार्मिक महत्व है लेकिन भारतीय नस्ल की हर गाय के घी में कई तरह के गंभीर और खतरनाक रोगों को ठीक करने की क्षमता है। इस बात को मेडिकल सांइस की रिसर्च में भी साबित किया जा चुका है। देसी गाय के घी में मौजूद तत्व सीधे आपकी सेहत पर अच्छे प्रभाव डालते हैं। वैदिकवाटिका आपको गाय के घी से मिलने वाले एैसे फायदों को बता रहा है जिससे आप निरोगी और जंवा बने रह सकते हो।

गाय के घी के फायदे

  • नाक में गाय का घी डालने से एलर्जी खत्म हो जाती है।
  • गाय के घी से तलवों की मालिश करने से हाथ और पाव में हो रही जलन खत्म हो जाती है।
  • रोज गाय के घी का सेवन करने से कब्ज और एसिडिटी की परेशानी आपको कभी नहीं होगी।
  • छोटे बच्चों में कफ की समस्या हो रही हो तो गाय के घी से बच्चे की पीठ और छाती में मालिश करें। बच्चों को लाभ मिलेगा।
  • गाय के घी का सेवन करने से इंसान की मानसिक और शारीरिक क्षमता बढ़ती है।
  • शरीर में कमजोरी महसूस हो रही हो तो आप 1 चम्मच गाय का घी और मिश्री को एक गिलास दूध में मिलाकर उसका सेवन करें।
  • गाय का घी कैंसर को पैदा नहीं होने देता है। और यह इस रोग को बढ़ने भी नहीं देता है। स्तन कैंसर और आंत के कैंसर से गाय का घी ही आपको बचा सकता है।
  • माइग्रेन के दर्द से निजात पाने के लि गाय के घी की दो बूंदे नाक में सुबह शाम डालें।
  • गाय का घी वजन कम करता है क्योंकि इसके सेवन से कोलेस्ट्राल नहीं बढ़ता है।
  • आंखों की ज्योति बढ़ाने के लिए 1/4 चम्मच पिसी काली मिर्च, 1 चम्मच बूरा और 1 चम्मच देसी घी को मिलाकर सुबह खाली पेट और रात को सोने से पहले उसे चाट कर बाद में गर्म दूध का सेवन करें।
  • वात, पित्त और कफ को संतुलित करने के लिए गाय के घी की कुछ बूंदे दिन में 3 बारी नाक में डालें।
  • देसी गाय का घी को फफोलों पर लगाने से आराम मिलता है।
  • लकवा रोग का उपचार भी गाय के घी के सेवन से संभव है।
  • छिलका रहित पिसा हुआ काला चना, घी और बूरा इन तीनों को बराबर मात्रा में मिलाकर लड्डू बना लें और सुबह खाली पेट एक लड्डू को खूब चबा-चबाकर खाएं और बाद में 1 गिलास गुनगुना दूध आराम से पीएं। एैसा करने से महिलाओं में होने वाला प्रदर रोग ठीक होता है। पुरूषों के लिए भी यह फायदेमंद है इससे शरीर ताकतवर और सुडौल बनता है।
  • नाक में गाय का घी डालने से बाल झड़ना रूक जाते है और नए बाल आने लगते हैं।
  • कान की हर समस्या को दूर करने के लिए नाक में गाय के घी की 2 बूंदे डालें।
  • सांप के काटने पर 100 ग्राम देसी गाय का घी पिलाएं फिर उसे गुनगुना पीनी पिला लें। एैसा करने से दस्त और उल्टी लगती है और सांप का विष धीरे-धीरे कम होने लगता है।

गाय के घी से इंसान कभी बीमार नही पड़ता है। बच्चो और बड़ो दोनों के लिए गाय का दूध और घी दोनों ही फायदेमंद है। ये भी पढे-गोमूत्र से कैसे पाए रोगों से छुटकारा

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।