ताली बजाने के फायदे

भारत में धार्मिक कार्यों जैसे भजन व आरती गाते समय ताली बजाने की प्रथा पुराने समय से चली आ रही है। ताली बजाने से इंसान को कई तरह के स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। इस बात को अब आधुनिक विज्ञान भी मान रहा है। ताली बजाने से न सिर्फ शरीर बीमारियों से बचा रहता है अपितु यह कई बीमारियों का इलाज तक कर देती है। ताली बजाने के क्या फायदे हैं और कैसे यह रोगों को दूर करती है वैदिकवाटिका आपको इस बारे में पूरी जानकारी दे रही है।

ताली बजाने के फायदे

  • यदि रोज नियमित होकर आप कम से कम 1 से 2 मिनट तक ताली बजाएं तो आपको अन्य दूसरे व्यायाम व आसनों की जरूरत नहीं पड़ेगी।
  • एक्युप्रेशर विज्ञान के अनुसार हाथ की हथेलियों में शरीर के समस्त अंगों के संस्थान के बिंदू होते हैं। जब ताली बजाई जाती है तब इन बिन्दुओं पर बार-बार दबाब यानिप्रेशर पड़ता है जिससे शरीर की समस्त आन्तरिक संस्थान में उर्जा जाती है और सभी अंग अपना काम सुचारू रूप में करने लगते हैं।
  • ताली बजाने से शरीर स्वस्थ और निरोग रहता है।
  • मोटापा कम करने के लिए ताली बजाना सबसे बेहतर उपाय है। ताली बजाने से शरीर की अतरिक्त चर्बी कम होती है। जिससे मोटापा घटने लगता है।
  • ताली बजाने से शरीर के विकार खत्म होते हैं और वात, कफ और पित्त का संतुलन ठीक तरह से बना रहता है। मानसिक तनाव, चिंता और कब्ज के रोग भी ताली बजाने से खत्म होते हैं।
  • लगातार ताली बाजाने से आपका शरीर बीमारियों से लड़ने में सक्षम होता है। जिससे कोई भी बीमारी आसानी से शरीर को नहीं लगती है।
  • ताली बजाने से लाभ तभी मिलता है जब हम नियमित रूप से इसे करें। साथ ही अप्राकृतिक साधनों का इस्तेमाल कम से कम करें। हर इंसान के लिए जरूरी है कि वह

अपनी दिनचर्या में सुबह के समय नियमित रूप से 2 मिनट तक ताली बजाए। ताली बजाने से आपका मन भी खुश रहेगा। इसलिए हर समारोह में ताली बजाई जाती है। अपने लिए खुद से ताली बजाएं और बीमारियों से भी शरीर की रक्षा करें।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।