केले के चमतकारी वैदिक फायदे

प्राचीन समय से ही केले को पूजा जाता रहा है और केले का वैदिक महत्व भी है, केले में एैसे राज छुपे हुए हैं जो आपको कई गंभीर बीमारियों से बचा सकते हैं। केला 12 महीने उपल्बध रहता है और यह स्वास्थ के लिए लाभदायक भी है।आपको बताते हैं केले के एैसे फायदे जो आपको निरोग बनायेगें।
 
केले के फायदे-
 
 1. पके हुए केले में विटमिन ए, सी, बी1 और बी2 पाया जाता है जो शरीर के लिए पौष्टिक है और शरीर को उर्जा प्रदान करता है।
 2. केले में वसा, प्रोटीन, सोडियम, और रेशा होता है। जो गैस्टिक की बीमारी में फायदेमंद है।
 3. केला आपके ब्लडप्रेशर को संतुलित करता है।
 4. यह हृदय रोग के खतरे को कम करता है।
 5. कच्चे केले का सेवन करने से पेट का अल्सर खत्म होता है।
 6. कच्चे केले में विटामिन की सबसे ज्यादा मात्रा होती है।
 7. केले का नियमित सेवन करने से आप जीवनभर स्वस्थ और जंवा बने रह सकते हो।
 8. केला शरीर के शुगर लेवल को भी नियंत्रण में रखता है।
 9. शोध के मुताबिक यदि आप शहद के साथ केला और दूध मिलाकर पीते हैं तो इससे आपकी अनिंद्रा की समस्या का निदान हो सकता है।
 10. केला शरीर के खून में हीमोग्लोबिन को भी बढ़ाता है।

11. यदि पेट में जलन हो रही हो तो पका हुआ केला दही के साथ मिलाकर सेवन करें। यह पेट संबंधी बीमारियों को भी दूर करता है।

12. रोज केला खाने से मांसपेशियां ताकतवर और मजबूत होती हैं।

13. खाना खाने के बाद आप यदि केला खातें है तो आपको खाना जल्दी पचेगा।

14. बालझड़ने की समस्या हो तो नींबू के रस को केले के पेस्ट में डालकर सिर पर लगाने से बाल झड़ने रूकने लगते हैं।

15. चोट या जलन में केले के छिलके को लगाने से लाभ मिलता है।

16. गर्भवती महिलाओं के लिए केला फायदेमंद होता है। केले में विटामिन्स भरपूर मात्रा में होतें हैं।

17. यदि गले में सूजन हो तो केले को नियमित रूप से खाएं। सूजन में राहत मिलेगी।

18. डायबिटीज के रोगी कों केले के तने का सफेद भाग का रस बनाकर नियमित पीने से डायबिटीज में राहत मिलती है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।