गलसुआ रोग के कारण और उपचार

बहुत ही आसानी से फैल जाता है गलसुआ रोग। यह एक संक्रामक रोग है।जो शरीर के कई हिस्सों को भी प्रभावित कर देता है। यह रोग पांच से पंद्राह साल के बच्चों को अक्सर हो जाता है। बच्चों में भी यह रोग लड़कियों को अधिक होता है। यह रोग अपने आप ही ठीक हो जाता है। इस रोग में शरीर की खून की जांच करवा लेनी चाहिए।
इसके लिए आपको विशेष किसी दवा लेने की जरूरत नहीं होती है।
आइये अब आपको बताते हैं गलसुआ रोग के लक्षण क्या होते हैं।
इस रोग के मुख्य लक्षण
कमजोरी का आना
कान में दर्द होना
भूख का ना लगना
पेट दर्द होना
चबाते हुए खाना खाते समय दर्द होना
गालों की सूजन और बुखार आना इसका मुख्य कारण है
क्यों होता है यह रोग
जैसा कि आपको बताया गया है कि यह रोग संक्रमण की वजह से होता है।
इस रोग में रोगी को खांसते और बोलते समय उसके थूक से फैले हुए अंश हवा के
जरिए दूसरे इंसान को जा सकते हैं जिसकी वजह से गलसुआ रोग हो सकता है।
जिस घर में हवा आने जाने में कठिनाई होती हो वहां रहने वाले लोगों को भी  गलसुआ रोग हो सकता है।

रोगी के संक्रमण के कारण भी यह रोग किसी भी इंसान को हो सकता है।
गलसुआ रोग का आयुवेर्दिक इलाज
जिस बच्चे को गलसुआ रोग हो गया हो उसे बुखार होने पर पेरासिटामोल दवा देनी
चाहिए। इससे बच्चे के स्वास्थ पर जल्दी असर पड़ता है।
पानी वाली चीजें यानि तरल पदार्थ ज्यादा से ज्यादा मात्रा में रोगी को देना चाहिए।
नमक वाले पानी से कुल्ला करवाएं।
जितना हो सके पानी अधिक से अधिक पीएं। गलसुआ के कारण ही उल्टियां और
पेट में दर्द होता है। और इस वजह से शरीर में पानी की मात्रा कम हो सकती है।

शरीर के सूजे हुए भाग पर ठंडी या गर्म पट्टी का इस्तेमाल करना चाहिए।
रोगी को कभी भी फलों का जूस ना पिलाएं।
एमएमआर टीका डाॅक्टर से सलाह लेने के बाद लगवाएं।

गलसुआ रोग की कुछ विशेश सावधानियां
गलसुआ रोग में रोगी के बर्तन, रूमाल, तौलिया, उसके कपड़े आदि को साफ रखें।
मरीज को अधिक आराम दें।
दो से तीन बार रोगी को गरम पानी से कुल्ला जरूर करवाएं। इससे रोगी को
जल्दी लाभ मिलता है।
आप रोगी को होमियोपौथी की खुराक भी दे सकते हैं।
यदि इन सभी उपायों से रोगी पर कोई असर ना हो रहा हो तो उसे बिना देर किए
चिकित्सक के पास ले जाएं।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।