फूलों के फायदे सुनकर चौंक जायेंगे आप

फूलों के फायदे जाने क्यूंकि कुछ फूल आयुर्वेदिक और कुछ घरेलू उपचार होते हैं, fulon ke fayde apki twacha, sondrya aur sehat ke liye in hindi

आज हम फूलों के फायदे के बारे में जानकारी देंगें। आप इस बात से जरुर हैरान हो जोगें कि आपको फुल से भी फायदे प्राप्त होते हैं जी हाँ फूलों का उपयोग हम औषधि के रूप में भी कर सकते हैं लेकिन जब भी हम फूलों के बारे में बात करते हैं तो सबसे पहलें पूजा और साज सजावट का ख्याल मन में आता है।

लेकिन कुछ फुल ऐसे होते हैं जो हमारी सेहत के लिए लाभकारी होते हैं जैसे गेंदा का फुल, अनार का फुल, गुडहल का फुल आदि। इस बारे में बहुत ही कम लोग जानते हैं आज हम आपको फूलों के फायदे के बारे में बताते हैं जो हमारे शरीर को स्वास्थ्य रखने के लिए बहुत ही लाभकारी होते हैं जैसे कि  :-

गुलाब का फूल

गुलाब एक बहुवर्षीय झाड़ीदार, कंटीला, पुष्पीय पौधा होता है। जिसमें बहुत ही सुंगंधित फुल लगते हैं। यह फुल जितना सुंदर होता है उसमें उतने ही औषधीय गुण भी पाए जाते हैं। गुलाब के ताजे फूलों का सेवन करने से दस्त लगते हैं वही सूखे गुलाब से कब्ज होती है। गुलाब त्वचा के लिए बहुत ही लाभकारी होता है।

इसकी मालिश करने से रुखी त्वचा मुलायम हो जाती है। गुलाब में विटामिन सी की भरपूर मात्रा पाई जाती है। गुलकंद का नियमित सेवन करने से हड्डियां मजबूत होती है। यदि आपको नींद की समस्या हो तो रात को सोने से पहले सिर पर गुलाब रखकर सोयें। आपकी अनिंद्रा की समस्या दूर हो जाएगी।

गेंदा का फूल

गेंदा का फुल देखने में जितना सुंदर होता है तथा इसकी खुशबु भी अच्छी होती है।इसके इलावा यह फुल कई औषधियों गुणों से भरपूर होता है। इसलिए इसे त्वचा के रोगों के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसके इलावा जिन पुरषों को स्पर्मटोरिया की शिकायत होती है उन्हें गेंदा के फूलों का रस पीना चाहिए।

अगर आप गेंदा के फूलों को सुखा कर उसमे मिश्री मिलाकर उसका सेवन करते हो तो पुरषों को शक्ति मिलती है। अगर इसके नारीयल के तेल में मिक्स करके अपने शरीर पर हल्की हल्की मालिश करते हैं तो हमें फोड़ें, फुंसियों का सामना नहीं करना पड़ता।

गुड़हल के फूल

जब हम गुड़हल के ताजे लाल फूलों को अपनी हथेली में कुचल कर नहाने के दौरान बालों पर हल्का हल्का रगड़े तो यह हमारे बालों के लिए किसी कंडीशनर से कम नहीं होता। गुड़हल के लाल फूलों को नारियल के तेल में गर्म करके अपने बालों में लगाना चाहिए।

आप इसका इस्तेमाल बालों को धोने के बाद भी कर सकते हैं, ऐसा करने से आपके बालों में बहुत तेजी से सुधार आता है। इससे आपके बाल घने ओर लम्बें होते हैं ओर यदि आप इसका इस्तेमाल तिल के तेल में करते हो तो आपके बालों का  झड़ना बंद हो जाता है और साथ में बाल भी काले हो जाते हैं।

अनार के फूल

अनार के बहुत से स्वास्थ्य लाभों के बारे में आपने सुना ही होगा अनार विटामिन्स का बहुत अच्छा स्त्रोत है। इसको हम स्वास्थ्य का खजाना कह सकते हैं। अनार के समान अनार के फुल भी सेहत के लिए लाभकारी होते हैं। जिन महिलाओं को मातृत्व की इच्छा होती है। उनके लिए अनार की कलियां किसी वरदान से कम नहीं होती है। इसके लिए अनार की कोमल कलियों को पीसकर पानी में मिलाएं, फिर उस पानी को छानकर पियें।

ऐसा करने से उनके गर्भ धारण की क्षमता बढ़ जाती है। अनार का पानी उबालकर उस पानी के कुरला करने से मुंह के छालों से राहत मिलती है। इसका मंजन करने से दांतों से खून निकलना तो बंद होता ही है साथ में दांत भी मजबूत होते हैं। जब भी हमारा शरीर का कोई अंग जल जाता है तो अनार के फूलों को पीसकर जले हुए भाग पर लगाने से हमें जलन अतिशीघ्र कम हो जाती है और दर्द से भी राहत मिलती है।

सदाबहार के फूल

सदाबहार एक झाड़ीनुमा पौधा होता है। इसके गोल पत्ते थोड़ी लंबाई के लिए अंडाकार, अत्यंत चमकदार और चिकने होते हैं। हमारे घरों की क्यारियों में सदाबहार के फूल बहुत ही आसानी से मिल जाते हैं और यह फूल किसी औषधि से कम नहीं होते हैं। इसमें कई तरह के रसायन पायें जाते हैं जो हमारी सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। इसके फूलों का सेवन करने से उच्च रक्तचाप को बहुत ही फायदा मिलता है।

इसकी  गुलाबी और लाल पखुडियों का सेवन करने से हमें मधुमेह में फायदा मिलता है। इसके लिए दो फूलों को एक कप उबले हुए पानी या बिना शक्कर की उबली चाय में डालकर ढंककर रख दें, फिर इसे ठंडा होने पर पी लें। इसका लगातार सेवन करने से मधुमेह के लिए बहुत ही हितकारी सिद्द होता है। इसके फूलों का उपयोग कैंसर जैसी गातक बीमारी के लिए भी उपयोगी माना जाता है।

केले के फूल

केले के पत्ते और तने के साथ साथ केले के फुल भी सेहत के लिए लाभकारी होते हैं। केले के फूल डायबीटीज के रोगियों के लिए कारगर उपाय है तो यह रक्त में शर्करा की मात्रा कम करने में मदद करता है। केले के फूल और पत्तियाँ त्वचा पर होने वाले अनेक सूक्ष्मजीवी खतरनाक संक्रमण को रोकने के लिए कारगर होता है।

इसके रस से अनेक तरह के त्वचा विकारों को दूर करने में सक्षम है। कच्चे केले ओर केले के फूल में महत्वपूर्ण रसायन पाया जाता है जो मुंह के छाले ठीक करने में सक्षम होता है। केले में अधिक मैग्नीशियम होने के कारण यह हमारे मूड को ठीक करता है। केले के फुल खून की कमी को पूरा करते हैं।

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।