आसान तरीकों से बढ़ायें आंखों की रोशनी

आखें शरीर का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है तभी वेदों में भी कहा गया है सभी इंद्रियों में आंखें ही श्रेष्ठ हैं। आंखों की रोशनी कम होने की वजह है भोजन में विटामिन की कमी, जिस वजह से छोटी उम्र से ही आंखें कमजोर होने लगती है।
दूसरी वजह घंटों कंप्यूटर पर बैठकर काम करना या टेलीविजन देखना।
तीसरी वजह आंखों की सफाई पर ध्यान न देना।

ज्यादा देर तक पढ़ते रहना।
हवा में मौजूद गंदगी का आखों में जाना आदि।
ये कुछ वजह हैं जो आंखों की रोशनी को कम करती हैं और आपको चश्मा लगाने के लिए विवश करती है।

कमजोर आंखों के मुख्य लक्ष्ण
आंखों से धुंधला दिखाई देने लगना
आंखों की मांसपेशियों में तनाव होना
आंखों मे जलन होना
आंखों से पानी निकलना


बादामों को रात में दूध में भिगो लें और इसमें थोड़ा सा चंदन मिला लें। और फिर इसे आंखों की पलकों में लगाएं। एैसा
करने से आंखों की लालिमा खत्म हो जाती है।

धनिया बीज और सौंफ के चूर्ण को बराबर मात्रा में लंे और इसका मिश्रण तैयार कर लें। साथ ही इसमें बराबर उनुपात में ही
चीनी को भी मिला लें। और रोज दस ग्राम की मात्रा में इसका सेवन सुबह और शाम करें। इससे आंखों की कमजोरी दूर होती है साथ ही मोतियाबिंद की समस्या भी दूर हो जाती है।

दो इलायची के टुकड़े लें और इन्हें पीस लें और दूध में डालकर उबाल लें। और रात को सोने से पहले इसका सेवन करें। इस उपाय से आंखों की कमजोरी दूर होती है।

एक चौथाई मक्खन
एक चम्मच शहद
और आधा चम्मच मुलेठी का चूर्ण
को एक कप गर्म दूध में अच्छी तरह से मिला लें और रात को सोने से पहले इसका सेवन करना।
इस उपाय से कमजोर आंखे भी पूरी तरह से ठीक हो जाती हैं।

आइए आप को बताते हैं एैसे आयुर्वेदिक उपाय जो आपकी आंखों की रोशनी को बढ़ायेगा-

1. प्रतिदिन पपीता खाने से आंखों की रोशनी बढ़ती है।
2. सेब का मुरब्बा खायें और उसके बाद दूध का सेवन करें एैसा करने से आंखों की रोशनी तेज होती है।
3. प्रतिदिन फल और सब्जियों का सेवन करने से आंखों की शक्ति बढ़ती है।
4. प्रतिदिन यदि आप गाजर का जूस पीयें तो आंखों की रोशनी बढ़ेगी।
5. सेब के सेवन करने और उसका जूस पीने से आंखों की ज्याति तेज होती है।
6. काली मिर्च का चूर्ण, घी और मिश्री मिलाकर रोज सेवन करने से आंखों की रोशनी बढ़ती है।
7. प्रतिदिन नहाने से पहले पांवों के अंगूठे में तेल मलकर नहाने से आंखों की रोशनी प्रबल होती है।
8. सुबह जल्दी उठकर पार्क में ओस पड़ी घास में नंगे पैरों से चलने से कमजोर आंखें तेज होती है।
9. सुबह उठकर मुंह में ठंडा पानी भरकर मुंह को फुलायें और ठंडे पानी से आखों में छीटें मारें।
10. हरे धनिया को पीसकर उसका रस निकाल लें और उसे साफ कपड़े में छान लें और इसकी 2-2 बूंदें आंखों में डालने से दुखती आंखे ठीक होती हैं।

11. अपने खाने में गोभी, शिमला मिर्च, संतरा व टमाटर आदि का सेवन जरूर करें।

आंखों का ध्यान रखने का कुछ और उपाय-

1. कंप्यूटर पर काम करते समय स्क्रीन पर लगातार न देखें। 20 मिनट के अंतराल पर स्क्रीन से आंखे हटा लें एैसा करने से आंखों को आराम मिलता है।
2. आंखों को धूप से बचाने के लिए आप यूवी प्रोटेक्टव लैंस वाले चश्में का प्रयोग करें।
3. 1 मिनट में कम से कम 10 से 12 बार आंखों की पलकें झपकाते रहें। एैसा करने से आंखें रूखी नहीं रहती हैं।
4. लेटकर या झुककर पढ़ना भी आंखों के लिए ठीक नहीं है। पढ़ते समय प्रकाश पीछे से आना चाहिए।
5. चलती हुई बस या गाड़ी में किताब पढ़ने से आखें खराब हो जाती है।
6. नींद कम लेने से भी आंखों पर बुरा असर पड़ता है, कम से कम 7 घंटे की नींद जरूर लें।
7. टीवी या कंप्यूटर को अधिक पास से न देखें।

योग के जरिए भी आप आंखों की रोशनी को बढ़ा सकते हैं।
पहला योग
अपनी दोनों आंखों को गोल आकर में घुमाएं। फिर दोबार उल्टी दिशा में अपनी आंखों को गोल घुमाएं।
अपनी पलकों को आप तेजी से बीस से तीस बार तेजी से झपकाते रहें।
रोज सुबह के समय में अपने मुख की लार को आखों पर काजल की तरह लगाने से आंखों की रोशनी बढ़ती है।
सुबह के समय में आप अपने दोनो हाथों को आपस में रगड़कर उसकी गर्मी को अपनी आंखों पर लगाएं। इस उपाय से आंख की कमजोरी दूर होती है।

त्राटक करें
योग में आंखों की रोशनी बढ़ाने का एक तरीका है त्राटक। किस अंधेरे कमरे में आप मोमबत्ती या दीया जलाकर पांच मिनट तक लगातार उस दीपक पर अपना ध्यान केंद्रित करें।

इन उपायों का प्रयोग करने से आपकी आखों की रोशनी बढे़गी।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।