एड़ी में दर्द के कारण और इलाज़

एड़ी मे दर्द होना आजकल एक आम समस्या बन गई है। यह एक तरह का रोग है जिसमें बेहद दर्द और परेशानी होती है। पुरूष हो या महिलाएं एडियों का दर्द किसी को भी हो सकता है। इस दर्द की वजह से शरीर में और भी कई तरह की बीमारिया जैसे कमर दर्द और स्लिप डिस्क जैसी समस्याएं हो सकती हैं। एड़ी में दर्द की प्रमुख वजह हैं अधिक उंचे जूते व सैंडल को पहनना आदि। हड्डी के बढ़ने से भी एड़ीयों में दर्द हो सकता है। वैदिक वाटिका आपको बताएगी कैसे इस दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है।

एड़ी दर्द के मुख्य कारण

  • ज्यादा टाइट या कसक वाले कपड़े पहनना।
  • गिर जाने की वजह से।
  • पैर का अचानक से मुड़ना।
  • अधिक नींद की गोलियां खाना।
  • उंचे जूते व सेण्डल पहनना।
  • कंकर व पत्थर का लगना।
  • उम्र के साथ मांस का कम होना।
  • हड्डी का बढ़ना।
  • अधिक समय तक खड़े रहकर काम करना।
  • पोषक तत्वों को न खाना।
  • मधुमेह व मोटापा।
  • हार्मोन से संबंधित दवाइयां अधिक लेना।
  • अधिक सोना व खाना ।
  • कमर व पैरों के साथ पेट को किसी भी तरह का तनाव न देना आदि।

एड़ी के दर्द से निजात पाने के वैदिक उपाय

जितना हो सके आप आरामदायक जूते व चप्पल पहनें। स्पोर्टस जूते भी आप पहन सकते हो।

लेप का प्रयोग

यदि दर्द की वजह से चलना फिरना बंद हो गया हो तो सरसों के तेल में हल्दी को पकाकर उसमें नींबू, प्याज और नमक डालकर पेस्ट बनाएं और रात को सोने से पहले इसे एड़ियों पर लगाएं।

ठंडा व गर्म पानी

एड़ी के दर्द में आप अपने सिर को गीला करें और किसी स्टूल पर बैठकर ठंडे व गर्म पानी में पैरों को बदल-बदल कर रखें। ठंडे पानी में तीन मिनट और गर्म पानी में 5 मिनट तक पैरों को रखें।

एलोवेरा

ऐलोवरा को छीलकर इसका 50 ग्राम भाग खाली पेट खाएं।

एलोवेरा, अदरक और काला तिल

एलोवेरा, अदरक और काला तिल को मिलाकर गर्म करे और इसको एड़ी पर लगाए।

अश्वगंधा का प्रयोग

एड़ी के दर्द से छुटकारा पाने के लिए 1 चम्मच दूध के साथ 1 चम्मच अश्वगंधा का चूर्ण मिलाकर सेवन करें।

अदरक और पोदीना का प्रयोग

एड़ियों के दर्द से मुक्ति पाने के लिए अपने भोजन में अदरक का इस्तेमाल अधिक से अधिक करें। पिण्ड खजूर को पोदीना के साथ मिलाकर चटनी बनाकर सेवन करें।

भोजन में इन चीजों को शामिल करें

अपने भोजन में आंवला, सेव, टमाटर, पत्तागोभी, कच्चा पपीता, आलू, ककड़ी और तोरई को शामिल करें। इसके साथ आप गुग्गुल का भी इस्तेमाल कर सकते हो।                                 ये भी पढ़ें-गुग्गुल के फायदे

कलौंजी, अजवायन, मेथी और ईसबगोल

एक चम्मच कलौंजी, एक चम्मच मेथी, एक चम्मच ईसबगोल और एक चम्मच अजवायन को पीस कर चूर्ण बना लें और सुबह एक चम्मच खाली पेट इसका सेवन करें। कुछ दिनों तक इस उपाय को करने से फायदा मिलता है।

एडी के दर्द से छुटकारा पाने का अन्य उपचार

सामग्री
एलोवीरा 1/4
नौशादर का एक टुकड़ा करीब एक छोटा चम्मच,( यह आपको आसानी से आयुर्वेद का सामान रखने वाले बिक्रेताओं के यहां मिल जाएगा)।
हल्दी 1/4

बनाने की विधि
सबसे पहले आप किसी बर्तन में एलोवेरा को हल्की आंच में गरम करें।
इसके बाद उस में नौशादर और हल्दी को डाल दें।
जब एलोवेरा अपना पानी छोड़ने लगे तब उसे आप एक रूई के टुकड़े पर रख दें और ठंडा कर लें।
कोशिश यह करें कि इसकी गरमाहट को सह सकें।
अब आप इसे एक कपड़े में रख दें और इसे पट्टी की तरह एड़ी पर बांध लें।
इस उपचार को आप रात को सोने से पहले करें। क्योंकि इस पट्टी को लगाने के बाद चलना नहीं चाहिए। नहीं तो इसका असर नहीं होगा। इस कारगर उपाय को आप नियमित एक माह तक करें तो आपको एड़ी में दर्द की समस्या से निजात मिल जाएगा।

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।