ड्राई आई सिंड्रोम या आंखों का सूखापन – लक्षण और उपचार

आजकल के युवाओं में मोबाईल और कंप्यूटर पर काम करने का शौक जरूरत से ज्यादा हो गया है। जबसे कंप्यूटर व मोबाइल में क्रांती आई है तब से ही युवाओं में इसका क्रेज अधिक बढ़ गया है। इन चीजों ने जहां हर चीज को इंसान के लिए आसान बना दिया है तो वहीं इसके काफी बुरे प्रभाव भी हमारे सामने आ रहे हैं। ड्राई आई सिंड्रोम यानि आंखों का सूखापन होना। अब ये बीमारी हर वर्ग के बच्चों और युवाओं में देखने को मिल रही है। वर्तमान समय में मोबाइल और कंप्यूटर हर इंसान के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। संचार के साधनों ने हर इंसान को कंप्यूटर व मोबाइल पर निर्भर कर दिया है। जो इंसान इन साधनों से दूर है वह पिछड़ा माना जाता है।

डाक्टरों की बात माने तो जो लोग अधिक समय तक मोबाइल और कंप्यूटर का इस्तेमाल कर रहे हैं उन्हें कई तरह की बीमारियां लग रही हैं। एैसे में जो सबसे बड़ी समस्या देखने को मिल रही है वह है आंखों के पानी का सूखना जिसकी वजह से आंखे ड्राई होने लगती है और इस कारण धीरे-धीरे आंखों की रोशनी खत्म हो सकती है। सबसे पहले जानते हैं ड्राई आई सिंड्रोम के लक्षणों के बारे में।

आंखों के ड्राई होने के लक्षण
जब इंसान मोबाइल और कंप्यूटर का प्रयोग अधिक करता है तब आंखों में सूखापन महसूस होने लगता है और आंखों में जलन व खुजली होने लगती है और हर समय आंखों को मलते रहने की जरूरत लगती है और इस वजह से आंखों से बे-वजह पानी निकलता है। कई बार तो सिर व आंखों में दर्द भी होने लगता है। इसके अलावा आंखों का लाल होना व सूजन आना भी इस बीमारी का गंभीर लक्षण है।

इस बीमारी से बचने के तरीके

  • जब भी आप मोबाइल व कंप्यूटर का इस्तेमाल कर रहे हों तो इस दौरान अपनी पलकों को बीच-बीच में झपकाते रहें।
  • जब कभी आंखों में खुजली व जलन हो रही हो तो उस समय आंखों को रगड़े ना। इसकी जगह तुरंत ठंडे पानी से आंखों को साफ करें।
  • एंटी क्लियर ग्लासेज या चशमों को पहने।
  • अपने खान-पान में हरी सब्जी का प्रयोग करना शुरू कर दें।

इन सभी उपायों को करने से आंखों का सूखापन दूर हो सकता है। इसलिए आंखों का ख्याल जरूर रखें। READ:लोकप्रिय और सफल बनने के 10 तरीके

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।