डायट प्लान – खूबसूरत त्वचा के लिए

त्वचा की खूबसूरती केवल ब्यूटी प्रोडक्टस  के जरिए ही नहीं होती है। इसके लिए आपका खान-पान भी सबसे अधिक महत्वपूर्ण होता है साफ सुतरी त्वचा के लिए जरूरी है कि आप संतुलित मात्रा में आहार लें। संतुलित का मतलब है कि ऐसे आहार जिनमे में प्रयाप्त मात्रा में पोषक तत्वों का होना जो सेहत और सुंदरता को बढ़ाते है । कैसे रखें त्वचा का प्राकृतिक रूप से ध्यान वैदिक वाटिका आपको बता रही है।

खूबसूरत त्वचा के लिए डायट प्लान

पानी

ये तो सभी जानते हैं कि पानी से चेहरे पर ग्लो आता है। लेकिन अक्सर देखा गया है कि हम पानी पीना भूल जाते हैं। इसलिए हमें अपने यूरीन के रंग के आधार पर इस बात को जानना चाहिए। यदि यूरीन का रंग पीला है तो समझें शरीर में पानी की कमी है। इसलिए हमें चाहिए कि हम अधिक से अधिक मात्रा में पानी पीएं। दिन में कम से कम 8 गिलास पानी का सेवन करे।

 

विटामिन्स

सुंदर और साफ त्वचा के लिए दूसरी महत्वपूर्ण चीज है विटामिन्स लेना। विटामिन ए और विटामिन सी आपकी त्वचा को जवां बनाने का काम करते हैं। और ये विटामिन्स त्वचा को जल्दी मुरझाने की समस्या से बचाते हैं।

क्या खाएं विटामिन्स में 

विटामिन्स की सबसे अधिक मात्रा फलों और सब्जीयों में होती है। अपने भोजन में अधिक मात्रा में कद्यू और गाजर को अधिक से अधिक शामिल करें। इसके अलावा आप काजू, अखरोट और बादाम का सेवन भी कर सकते हो। पानी, फल और सब्जीयों के अलावा नट्स खाने से चेहरे की रंगत संवरती है।  ये भी पढे – कैल्शियम की कमी के 7 लक्षण

चना 

पुरुषो के लिए चना बेहद जरूरी आहार है। चना खाने से इंसान जल्दी बूढ़ा नहीं होता है। चने में मौजूद विटामिन्स पुरुषो को अंदर से मजबूत बनाते है जिससे शरीर कई तरह की बीमारियो से भी बचा रहता है।

यदि आप प्राकृतिक रूप से नियमित इस तरह का खान-पान अपने रूटीन में शामिल करते हो तो आपको फिर किसी केमिकल युक्त चीजों को अपने चेहरे पर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इन आसान उपायों से आप लंबे समय तक खूबसूरत और जवां बने रह सकते हो।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।