धनिया के औषधीय गुण

benefits-of-coriander-in-hindi

हमारी रसोईघर में प्रयोग होने वाले मसालों में से एक है धनिया ।धनिया का प्रयोग रसोई में  खानें को स्वादिष्ट बनाने के लिए किया जाता है। जबकि इससे केवल  खाने  को स्वादिष्ट ही नही बनाया जाता, बल्कि इसमें कई औषधीय गुण भी पाये जाते है। धनिया के पत्ते खानें को ओर स्वादिष्ट बनाने और इसे सजाने के काम आता है। जब हम सब्जियों और दालों में धनिया का इस्तेमाल करते हैं तो यह देखने में ही बहुत सुंदर लगती है।

कुछ लोग धनिया का प्रयोग सब्जी बनाने में करते हैं, धनिया की पत्तीयों को चटनी बनाने में भी इस्तेमाल किया जाता है । जब भी आप धनिया को प्रयोग में ला रहे हो तो इस बात का ध्यान आवश्य दें की वो बिल्कुल साफ़ हो और उसमे मिट्टी के कण नहीं हों। क्योंकि ये आपको कई तरह की बीमारियां दे सकता है। धनिये में पाएं जाने वाले औषधीय गुणों के कारण हमें बहुत ही फायदे प्राप्त होते हैं जैसे आँखों की जलन, पथरी, मुंहासे, मुंह के घाव, गर्मी की लू आदि में धनिया बहुत ही फायदेमंद साबित होता है। आइये जानते हैं धनिये के फायदों के बारे में।

धनिया के लाभ

धनिया में अनेक तरह के गुण होते हैं जो हमे कई तरह की बीमारियों से बचाते हैं वो कुछ इस प्रकार से है जैसे-

आखोँ की जलन होने पर

आखोँ की जलन को दूर करने के लिए मिश्री, सौफ, धनिया के बीजों को बराबर की मात्रा में लेकर इसका चूर्ण तैयार करें और इस चूर्ण का सेवन भोजन के बाद करें। इसके सेवन से आपको आखोँ, हाथों, पैरों की जलन से छुटकारा मिलता है । इसके साथ आप को सिरदर्द से भी राहत मिलती हैं।

पेट की गैस होने पर

गैस से राहत पाने के लिए धनिया की चाय का सेवन करना चाहिए जिसमे 2 कप पानी में जीरा और धनिया डाला जाता है साथ में चाय पत्ती, सौंफ डाल कर कुछ देर तक पकाया जाता है बाद में इसमे शक्कर मिला ली जाती है। इसमे शक्कर की जगह में शहद का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। इसका सेवन करने से पाचन सम्बन्धित समस्याओं से भी राहत मिलती है और गले में होने वाली समस्याओं से भी आराम मिलता है।

पथरी के इलाज में

पथरी होने पर धनिया के पत्तों को उबालकर छान कर उसका सेवन सुबह ख़ाली पेट करना चाहिए। ऐसा करने से पेट की पथरी यूरीन के माध्यम से बाहर निकल जाती है।

आंखों की परेशानी होने पर

आखोँ से पानी गिर रहा है तो हरे धनिया के पत्तों को पिस कर उस का पानी निकाल लें और उसको मोटे कपड़े में छान ले फिर उस पानी को किसी शीशी में डाल कर रख लें। और उसकी 2- 2 बूदं अपनी आखोँ में डालने से आप की आखोँ से पानी निकलना बंद हो जाएगा।

मुहासों के लिए धनिया

मुहांसों और चेहरे से काले धब्बे हटाने के लिए धनिया की पत्तियों को पीस लें फिर उसमे चुटकी भर हल्दी मिलाकर के उसका लेप तैयार करें। उस लेप को दिन में 2 बार लगायें । ऐसा करने से आपको जल्दी ही मुहासों और काले धब्बों से राहत मिलती है।

मुंह के घाव

मुंह के घाव को ठीक करने के लिए धनिया काफी फायदेमंद होता है। धनिया में जो एंटीसेप्टिक गुण होते हैं वो मुंह के घाव को ठीक करने में मदद करते है।

गर्मियों में लू से बचने के लिए

लू लग जाने पर हरे धनिया को पीस कर उसका रस निकल लें फिर उसमे चीनी डाल कर इसका सेवन करें। रोज इसका सेवन करने से आपको सर्दी-जुकाम से राहत मिलती है।

नींद की समस्या

नींद न आने पर हरे धनिया में मिश्री को मिलाकर उसकी चटनी बनायें। इसका सेवन दिन में दो बार करें। इस उपाय से आप को अच्छी और गहरी नींद आती है।

पेट की गर्मी में

पेट में गर्मी होने पर बार-बार दस्त आना शुरू हो जाते हैं। ऐसे में  50 ग्राम हरा धनिया पीसकर उसे छाछ में या पानी में मिला लें फिर इसका सेवन करें। इसका सेवन करने पर आपको  दस्त से आराम मिलता है। आपको इसका  सेवन दिन में 2 बार करना चाहिए ।

अर्थरइटिस

धनिया में मौजूद गुण अर्थराइटिस की समस्या को ठीक करते हैं।

घाव भरता है

धनिया में एंटी-सेप्टिक गुण होते हैं। जब भी हमारे शरीर पर कहीं चोट या घाव हो जाता है तब इसका इस्तेमाल बहुत ही फायदेमंद साबित होता है। क्योंकि इसका इस्तेमाल करके आप अपनी चोट और घाव को जल्दी भर सकते हो। इसके इलावा अगर आपके मुंह में घाव है तो धनिया का रस पीएं।

नर्वस सिस्टम

जिन लोगों का नर्वस सिस्टम कमजोर होता हैं उन्हें धनिया की पत्तियों का सेवन नियमित रूप से करना चाहिए। धनिया की पत्तियों को खाने से इंसान का नर्वस सिस्टम ठीक रहता है।

अल्जाइमर

अल्जाइमर की समस्या ठीक होती है धनिया का सेवन करें।

एलर्जी में लाभकारी

धनिया की तसीर ठंडी होती हैं इसलिए यह एलर्जी को शांत करके का एक अचूक उपाय है। यह एलर्जी के आम लक्षण जैसे पित्ती, खुजली और सूजन को कम करने में भी मदद करता है। इसका उपयोग त्वचा पर करने के लिए सबसे पहले एक चम्मच शहद में आधा चम्मच पिसा हुआ शहद मिला लें। इस मिश्रण को अच्छे से मिक्स करके प्रभावित क्षेत्र पर लगा लें। फिर दस मिनट के बाद इसे साफ़ कर लें।

गठिया में लाभकारी

धनिया में एंटी इन्फ्लेमेट्री गुण पाएं जाते हैं यह गठिया में बहुत फायदेमंद होते हैं। इसका उपयोग करने के लिए शीया मक्खन, नारियल का तेल या फिर अपने मनपसन्द लोशन में आधा चम्मच धनिया पाउडर डाल कर एक लेप तैयार कर लें। इसका प्रयोग जोड़ों पर करें। आपको बहुत ही जल्द इसका फायदा प्राप्त होगा।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।