कैल्शियम की कमी के 7 लक्षण

कैल्शियम की कमी आजकल हर उम्र के लोगों में देखने को मिल रही है। जिस वजह से कई तरह के रोग शरीर को लगते हैं। केल्शियम से ही हमारी मांसपेशियां और हड्डियां मजबूत बनने के साथ उनका विकास होता है । अक्सर आपको नहीं पता चल पाता है कि कैल्शियम की कमी के क्या लक्षण होते हैं। वैदिक वाटिका आपको कैल्शियम की कमी के लक्ष्णों के बारे में जानकारी दे रही है।

कैल्शियम की कमी के 7 लक्षण

हड्डियां कमजोर होती हैं

कैल्शियम की कमी की वजह से हड्डियां कमजोर होने लगती हैं और उम्र बढ़ने के साथ फ्रैक्चर होने की संभावना अधिक होती है। उम्र बढ़ने के साथ आस्टयोपिरासिस की समस्या भी हो जाती है।

 

मांसपेशियों में दर्द के साथ अकड़न

कैल्शियम की कमी की वजह से जांघो में दर्द होता है साथ ही साथ मांसपेशियों में अकड़न भी शुरू हो जाती है। 

नाखून टूटने लगते हैं

नाखूनों का कमजोर होकर टूटना भी कैल्शियम की कमी का मुख्य कारण होता है। नाखूनों में थोड़ा सा भी झटका लगते ही वे टूट जाते हैं। नाखूनों की परत के उपर सफेद चकते भी दिखने लगते हैं।

दांतों पर असर

हड्डियों और दांतों में कैल्शियम का असर अधिक होता है। शरीर में कैल्शियम की कमी होने से दांत कमजोर होकर टूटने तक लगते हैं। इतना ही नहीं दांतों में दर्द और झनझानाहट भी होती है। कैल्शियम की कमी की वजह से बच्चों के दांत तक भी देरी से निकलते हैं।

जल्दी थकना

कैल्शियम की कमी के कारण शरीर पूरी तरह से कमजोर हो जाता है। जिस वजह से मांसपेशियां और हड्डियों में दर्द होता है और इंसान जल्दी ही थकने लगता है। शिुशु को जन्म देने के बाद महिलाओं में यह समस्या अधिक बनी रहती है।

मासिकधर्म में दर्द 

कैल्शियम की कमी अक्सर महिलाओं में अधिक देखी जाती है। जिस वजह से मासिकधर्म के दौरान बेहद दर्द और खून का स्त्राव अधिक होता है। 

शरीर का जल्दी बीमार पड़ना

शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को कैल्शियम ही बढ़ाता है। यदि शरीर में कैल्शियम का स्तर गिरता है तो आप जल्दी-जल्दी बीमार पड़ने लगते हो। कैल्शियम की कमी से आंत और सांस से संबंधित रोग जल्दी लगते हैं।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।