बुखार का घरेलू उपाय – नमक

बुखार आना सामान्य बात है। बदलते मौसम में बच्चों से लेकर बड़े तक बुखार की चपेट में आ जाते हैं। और ये बुखार मलेरिया और वायरल फीवर के नाम से जाने जाते हैं। कई बार हल्का बुखार होने पर भी लंबे समय तक बना रहता है। जिसकी वजह से शरीर अचानक से कमजोर हो जाता है। लेकिन अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। इसका इलाज है नमक। कैसे आप नमक के इस्तेमाल से इस गंभीर बुखार से राहत और आराम पा सकते हैं। आपकी वैदिक वाटिका आपको बताएगी।

नमक का प्रयोग बुखार भगाने में 

बुखार को खत्म करने के लिए आप भुने हुए नमक का इस्तेमाल करें। 

भुना नमक बनाने का तरीका

खाना बनाने वाले साधे नमक को तवे में डालकर हल्की आंच पर तब तक सेकें जब तक इसका रंग भूरा व काला न हो जाए। अब इसे ठंडा कर लें। और किसी शीशी में भर कर रख दें। 

कैसे करे इस्तेमाल

जब कभी आपको या आपके परिवार में से किसी को बुखार आ रहा हो तो। एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच इस नमक को डालकर पीएं। और जब बुखार उतर गया हो फिर से एक बारी गर्म पानी में एक चम्मच इस नमक को डालकर पीएं। एैसा करने से बुखार वापस पलट कर नहीं आता है।

ये उपाय आप खाली पेट करें। और इसके आधे घंटे तक कुछ न खाएं। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि रोगी को किसी भी तरह ठंड नहीं लगनी चाहिए।

चेतावनी

जिन लोगों को हाई ब्लडपे्रशर और दिल की समस्या हो वे इस उपाय को न अपनाएं। 

क्या करें यदि बुखार सादा हो 

  • रोगी को यदि प्यास अधिक लग रही हो तो उसे गर्म पानी को ठंडा करके पिलाएं।
  • बुखार आने पर रोगी को दलिया, खिचड़ी और चाय देते रहें।
  • बुखार होने पर करेले की सब्जी जल्दी फायदा करती है। 
  • दाल का सूप पीते रहने से बुखार में राहत मिलती है।
  • बुखार में दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। 

बुखार को हल्के में न लें। यदि इन उपायों से बुखार न उतर रहा हो तो बिना देर किए रोगी को डाक्टर के पास ले जाएं।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।