बेर खाने के फायदे सेहत के लिए

बेर खाने में बेहद स्वादिष्ट और पौष्टिक होते हैं। बेर में विटामिन सी अधिक मात्रा में होता है। इंसान की त्वचा को लंबे समय तक जंवा बनाए रखने का काम करता है बेर। इसके अलावा बेर आपको कई तरह के रोगों से बचाती है। वैदिक वाटिका आपको बता रही है। बेर के एैसे फायदे जो शायद ही आपको किसी ने बताए होगें।

 

 

बेर के फायदे व लाभ

पेट का दर्द

पेट दर्द होने पर छाछ के साथ बेर का सेवन करने से पेट का दर्द पूरी तरह से शांत हो जाता है।

 

खांसी और बुखार के उपचार में बेर

बेर में प्राकृतिक गुण होते हैं जिस वजह से यह पुरानी से पुरानी खांसी को ठीक कर देती है। खांसी को ठीक करने के लिए बेर का जूस पीना चाहिए। इससे बुखार और खांसी दोनों ही खत्म हो जाती हैं।

 

बालों के लिए बेर के फायदे

बालों को स्वस्थ और घना बनाती है बेर। बेर में 61 प्रकार के प्रोटीन होते हैं। जिसमें केरिटलाइड और बी काम्प्लेक्स भी अधिक होता है। बेर की पत्तियों को पीसकर इसका लेप बालों पर लगाना चाहिए। जिससे बाल घने होने लगते हैं।

 

चोट का घाव में बेर के लाभ

घाव को जल्दी से भरने का काम करती हैं बेर की पत्तियां। चोट के घाव पर बेर की पत्तियों को पीसकर इसका लेप बनाकर लगाना चाहिए। आप चाहें तो बेर के गूदे को भी घाव पर लगा सकते हैं।

 

नींद की समस्या में 

यदि आपको नींद न आने की समस्या है तो बेर का सेवन करें। बेर में 18 तरह के एमीनो एसिड होते हैं जो आपके शरीर में प्रोटीन को संतुलित करते हैं। जिससे नींद आसानी से आती है।

 

बीमारियों से लड़ने में बेर

बेर शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती  है। बेर में कापर, आयरन, पोटैशियम और मैग्नीशियम होता है जो शरीर के इम्यून सिस्टम को ताकत देकर उसे मजबूत बनाती है। जिससे इंसान का शरीर हर तरह के रोग लड़ने में सक्षम हो जाता है।

 

दिल के रोग 

दिल का दौरा पड़ने की सबसे बड़ी वजह होती है कोलेस्ट्राल का बढ़ना। बेर में कई तरह के गुण होते हैं जिसे खाने से कोलेस्ट्रोल नियंत्रित हो जाता है और दिल का दौरा पढ़ने की संभावना कम हो जाती है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।