दही के चमतकारी फायदे

दही का इस्तेमाल आप सभी करते हो दही को खाने के साथ खाने से खाने का स्वाद तो बढ़ता ही है साथ ही यह आपकी सेहत के लिए बेहद पौष्टिक और लाभदायक भी है। क्या आप जानते हैं दहीं का इस्तेमाल करना आपको कितना फायदा दे सकता है। दही आपको कई रोगों से बचा सकती है। दूध के मुकाबले दही आसानी से पच जाती है।आइये जानते हैं दही के गुणों के बारे में।

दही के सेहतवर्धक गुण

दही का  प्रयोग नित्य करने से हाई ब्लडप्रेशर, किडनी आदि रोगों में लाभ मिलता है। दही हर उम्र के लोंगों के लिए बेहद फायदेमंद औषधी है।
दही हार्ट अटैक की संभावना को कम करती है । दही में मौजूद गुण कोलेस्ट्रोल को शरीर में बढ़ने नहीं देते हैं यह कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित कर देती है जिससे खून हल्का और उसका प्रभाव गतिशील रहता है जिस वजह से हार्ट अटैक जैसी गंभीर बीमारी से निजात पाया जा सकता है।

कैंसर में दही
हाल ही में हुए शोध राष्ट्रिीय डेयरी के अनुसार दही के प्रयोग से कई तरह के कैंसर की संभावनाओं को खत्म किया जा सकता है। इसलिए दही का सेवन कैंसर में प्रभावशाली औषधी का काम करती है।

मोटापे से राहत
मोटापा कम करने और आपको स्लिम बनाने में दही एक कारगर उपाय है। दही के सेवन करने से शरीर की अतरिक्त चर्बी घटने लगती है। और मोटापा भी धीरे-धीरे घटने लगता है। आप मोटापा कम करने के लिए मट्ठा या दही किसी का भी सेवन कर सकते हो।

बाल गिरना कम करे
बालों के गिरने  का मुख्य कारण है बेवजह की टेंशन लेना। ज्यादातर महिलाओं को बाल गिरने की समस्या अधिक होती है इसकी वजह हारमोन्स की कमी, और तनाव है । लेकिन यह समस्या अब पुरूषों में भी होने लगी है। दही में प्रयाप्त मात्रा में आयोडिन और लौह त्तव होता है।
काली मिर्च के 10 दानों को पीसकर दही में मिला लें। और इस पेस्ट को सिर पर अच्छी तरह से लगाकर साफ करने से बाल गिरना कम हो जाते हैं। इससे बाल मुलायम और सुंदर बनते हैं। इसलिए दही का सेवन बाल गिरने की समस्या से निजात दिलवाता है।

अपच
यदि अपच की समस्या हो तो काली मिर्च व सेंधा नमक के साथ पिसा हुआ जीरा दही में डालकर खाने से अपच दूर होती है और खाना जल्दी ही आपको पच जाता है।

सिरदर्द
सिरदर्द या माइग्रेन होने पर चावल, मिश्री को दही के साथ मिलाकर सुबह सूरज के उगने से पहले सेवन करेन से माइग्रेन की परेशानी से राहत मिलेगी। 1 से 2 हप्ते तक नियमित एैसा करें।

आंतों के लिए
दवाईयों का इस्तेमाल अधिक करने की वजह से आंतों में दिक्कते आने लगती है। आंतों में होने वाले इन्फेक्शन को दही के नियमित सेवन करने से ठीक किया जा सकता है।

गंजापन से दिलाए निजात
गंजेपन होने पर प्याज के रस को सिर पर अच्छी तरह से लगा लें और 1 घंटे के बाद खट्ठी दीह को पेस्ट की तरह सिर पर लगा लें। 10 मिनट के बाद सिर धो लें। एैसा करने से कुछ दिनों में गंजेपन वाली खाली जगह पर बाल आने लगेंगे

दही का प्रयोग कब नहीं करना है यह भी जानना आपको जरूरी है-
खांसी, कफ, पित्त, दमा और बुखार आदि में दही का सेवन कभी न करें।

दही आपको हर तरह की बीमारियो से बचाती है दही का इस्तेमाल आपको रायता, मट्ठा, आदि के रूप मे जरूर लेना चाहिए।   

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।