मुलेठी के फायदे

मुलेठी एक प्राचीन और उपयोगी औषधि है। यह कई तरह की बीमारियों को दूर करती है। आयुर्वेद में मुलेठी का प्रयोग कई खतरनाक रोगों से बचने के लिए किया जाता रहा है। मुलेठी सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है। खास तौर से तब जब
गले में संक्रमण बीमारियां होती हैं। मुलेठि पेट के अल्सर में फायदा करती है। मुलेठी आपको किसी भी पान की दुकान व जर्नल स्टोर पर आसानी से मिल जाती है।

मुलेठी में अंदर से पीली और हल्की गंद वाली होती है। मुलेठी हर उम्र के इंसान के लिए बेहद उपयोगी चीज है। वैदिक वाटिका आपको बता रही है मुलेठी से आपको क्या क्या लाभ मिल सकते हैं। आइये जानते हैं मुलेठी कैसे कई रोगो में आपको फायदा देती है और इसका इस्तेमाल कैसे करें।

मुलेठी के गुण
यदि मुख सूखा लग रहा हो तो मुलेठी को बार.बार चूसने से मुख का सूखपन दूर हो जाता है। मुलेठी में 50 प्रतिशत पानी की मात्रा होती है। जो शरीर में पानी की पूर्ति भी करती है।

गले की समस्या
गले की हर तरह की समस्या में मुलेठी फायदा देती है। यदि गले में खराश हो रही हो तो मुलेठी को चूसना चाहिए। यह गले को ठीक करने के साथ आवाज को भी मधुर बनाती है।

सुंदरता के लिए
मुलेठी प्राकृतिक हर्बल होती है जो चेहरे की सभी तरह की समस्याओं जैसे पिंपल, एकने व त्वचा में होने वाले रोग इन सभी को आसानी से ठीक कर देती है। मुलेठी महिलाओं की सुंदरता को बढ़ाती है। मुलेठी के 1 ग्राम चूर्ण को पानी के साथ सेवन करने से सुंदरता लंबे समय तक टिकी रहती है।

मासिक संबंधी रोग में
मासिक संबंधी रोगों से महिलाएं अधिक परेशान रहती हैं। एैसे में मुलेठी का सेवन बहुत ही लाभदायक होता है। जिन महिलाओं को मासिक संबंधी परेशानी होती हो वे 1 महीने तक आधा चम्मच मुलेठी के चूर्ण को शहद के साथ मिलाकर सुबह और शाम चाटने

से इस समस्या में लाभ देगा।

कफ के लिए
कफ दूर करने के लिए मुलेठी को काली मिर्च के साथ सेवन करने से कफ कम हो जाता है। सूखी खांसी में मुलेठी के सेवन से फायदा मिलता है और यह गले की सूजन को भी ठीक करती है।

पेट के अल्सर में
पेट के अल्सर को ठीक करने में मुलेठी एक अचूक औषधि है। मुलेठी का चूर्ण अल्सर के अपच और हाइपर एसिडिटी को दूर करता है। और तेजी से अल्सर के घावों को भी भरता है।

खून की उल्टी में
यदि किसी को खून की उल्टी हो रही हो तो दूध में मुलेठी का चूर्ण डालकर रोगी को पिला दें। या शहद के साथ मुलेठी का चूर्ण मिलाकर रोगी को चटा दें।

शरीर को अन्दरूनी चोट से बचाए
मुलेठी एंटीबायोटिक दवा का काम भी करती है।  जो शरीर में बैक्टिरिया से लड़ने में सक्षम होती है। यह अन्दरूनी चोटों में भी फायदा करती है।

मुलेठी के अन्य फायदे
1. मुलेठी आंतों में होने वाली टी बी की पेरशानी को दूर करती है।
2. यह आंखों की रोशनी को भी बढ़ाती है। मुलेठी को सुबह 3 ग्राम खाना चाहिए।
3. भूख न लगने की समस्या हो तो मुलेठी का छोटा टुकड़ा कुछ देर के लिए चूसें। एैसा दिन में 3 बारी करें। भूख न लगने की परेशानी दूर हो जाएगी।
4. शरीर में खून की मात्रा को बढ़ाने में मुलेठी बेहद कारगर होती है। रोजाना इसका सेवन करने से शरीर में खून बढ़ता है।
5. उल्टी होने पर एक टुकड़ा मुलेठी चूसें।
6. इसके चूर्ण को मुंह में होने वाले छालों पर लगाने से लाभ मिलता है।
7. कान दर्द और सूजन होने पर मुलेठी का टुकड़ा चूसें। फायदा मिलता है।
8. फोडे़ व फुंसी होने पर मुलेठी का लेप लगाने से वे जल्दी ठीक होते हैं।
9. शरीर में ताकत लाने के लिए 6 ग्राम मुलेठी के चूर्ण को 30 ग्राम दूध के साथ मिलाकर सेवन करना चाहिए।

मुलेठी आपके लिए बड़े काम की चीज है। यह जरूरी नहीं है कि आप बीमार हों तभी मुलेठी का सवेन कर सकते हो। मुलेठी का प्रयोग हमेशा करते रहना चाहिए। यह शरीर को पहले से ही कई घातक बीमारियों जैसे कैंसर, आंतों का अल्सर व अन्य रोगो से बचाता है। मुलेठी पाचनक्रिया को ठीक रखती है।

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।