बेल फल के फायदे

बेलपत्थर को कई नामों से जाना जाता है। इसे श्रीफल, वुड एप्पल और बेलफल आदि कहा जाता है। भारत के प्राचीन ग्रंथों में भी बेल के पत्तों के धार्मिक महत्व के बारे में बताया गया है। बेल के पत्तों को भगवान सदा शिव को चढ़ाने से अक्षय पुण्य की प्राप्ती होती है ऐसा शिवमहापुराण में  कहा गया है। लेकिन बेल के रस पीने से आपको कई तरह के स्वास्थवर्धक फायदे मिल सकते हैं जिससे आप और आपका परिवार भंयकर बीमारियों से आसानी से बच सकता है। क्या हैं बेल के फायदे वैदिक वाटिका इस बारे में आपको पूरी जानकारी दे रही है।

बेल फल का रस बानने का तरीका

बेल के फायदों को जानने से पहले से आपको इसको बनाने  का तरीका भी आना चाहिए। आइये जानते हैं कैसे बनता है बेल का रस या जूस।

सबसे पहले आप बेल के पत्थर व फल को तोड़ें और इसके अंदर से गूदे को बाहर निकाल लें। अब इस गूदे को कम से कम दो घंटे तक पानी में भिगोकर रख लें। बाद में किसी छलनी से इस गूदे को दबाकर रस अलग कर लें। और इस रस में चीनी, जीरा पाउडर और हल्का नमक को अच्छे से मिला लीजिए। अब इसे ठंठा करने के लिए फ्रिज में रख लें। और फिर इसका सेवन करें।

गर्मियों में होने वाली समस्याओं में बेल का रस

गर्मियों में शरीर से उर्जा तेजी से कम हो जाती है। ऐसे में शरीर को ठंड़ा और उर्जावान बनाने के लिए बेल का रस पीना चाहिए। बेल के रस में प्रोटीन की अधिक मात्रा होती है जो शरीर को भंयकर गर्मी में भी ताजगी देती है। आप बेल का जूस सुबह नाश्ते से एक घंटे पहले और रात को खाना खाने के भी एक घंटे पहले बेल का शर्बत व रस पी सकते हैं।

मधुमेह या डायबिटीज को नियंत्रित करने में बेल

इसमें कोई दो राय नहीं है कि बेल के रस का सेवन करने से डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है। बेल में मौजूद लैक्सटिव तत्व ब्लड शुगर लेवल को बढ़ने नहीं देते हैं। इसके साथ-साथ बेल उचित मात्रा में शरीर में इंसुलिन पैदा करता है।

READ-वास्तु टिप्स – घर में कछुआ रखने के क्या हैं लाभ

पेट के रोग और अल्सर में बेल

बेल में कई तरह के पोषक तत्व होते हैं जैसे लैक्सटिव जो गैस्ट्रिक अल्सर को ठीक करने में सहायक होते हैं। साथ ही बेल हमारे पाचन तंत्र को कई बीमारियों से बचाता है और उसे मजबूत बनाता है। आंतों में होने वाले कीड़े भी बेल का रस पीने से खत्म हो जाते है। साथ ही यह एसिडिटी को भी ठीक करता है। बेल का जूस पीने से आपकी कब्ज की समस्या ठीक हो सकती है।

READ-गन्ना और गुड खाने के सेहत के लिये फायदे

शरीर को बनाए रोगों से लड़ने में सक्षम

शरीर को वायल संक्रमण से होने वाली बीमारियों से बचाता है बेल का रस। खून की गंदगी को साफ करना और उसमें से विषाक्त तत्वों को निकालने का काम करता है बेल का रस। यदि आप रोज बेल का जूस पीते हैं तो यह शरीर में होने वाले टोक्सिन को खत्म कर देता है।

READ-एलोवेरा के सौंदर्य टिप्स – मर्दों के लिये

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।