बादाम के फायदे – पुरूषों के लिये

बादाम अक्सर सभी खाते हैं। पुरूषों के लिए बादाम खाना बेहद जरूरी और फायदेमंद होता है। पुरूषों को होने वाले रोग जैसे वीर्य संखलन, शीध्र पतन , मरदाना ताकत में कमी, नपुंसकता जैसी कई बीमारियों को बादाम दूर करता है। इसलिए आपको इस बात का पता होना चाहिए कि कैसे बादाम का इस्तेमाल करना है। वैदिक वाटिका पुरुषों को होने वाले गंभीर रोगों से बचने के लिए बादाम का इस्तेमाल कैसे करना है आपको पूरी जानकारी दे रही है। 

बादाम के फायदे – पुरूषों के लिये

 

मरदान ताकत बढ़ाने के लिए

बादाम में खून साफ करने की ताकत होती है। साथ ही यह खून को बढ़ाने का भी काम करता है। बादाम वीर्य के दोष और गर्मी को खत्म करके नया वीर्य बनाता है।

कैसे करें बादाम का इस्तेमाल 

  • रात में 10 बादामों का छिलका उतार कर दो चम्मच शहद के साथ मिलाकर रख दें। सुबह खाली पेट बादाम और शहद को बारीक-चबाकर खाएं। इसे चबाना इस तरह से है कि मुख कें अंदर यह पेस्ट बन जाए। इस उपाय को लंबे समय तक करने से इंसान बुढ़ापे में भी जवां बना रहता है।
  • सील बट्टे पर 10 बादाम पीस लें और इसमें थोड़ा सा केसर मिला लें और फिर से इसे पीसे लें। इसे नित्य पीएं। 
  • सर्दियों के मौसम में 5 ग्राम  कालीमिर्च, 5 ग्राम बादाम, 5 ग्राम मिश्री और सिके हुए काले चने  करीब 15 ग्राम मिलाकर रोज खाएं। 

 

वीर्य संखलन

जिन पुरूषों का वीर्य जल्दी निकल जाता है। वे

6 कालीमिर्च,

2 गरम सौंठ, 

6 बादाम, 

आधी मुट्ठे भुने चने और मिश्री को अच्छे से मिलाकर इसका सेवन करें। ध्यान रखें आपको इन्हें बारीक चबाकर खाना है और बाद में एक गिलास दूध पीएं। इस  उपाय से आपको वीर्य संखलन की समस्या से निजात मिलेगा।

संतान प्राप्त करने के लिए बादाम

यदि पुरूष संतान सुख से वंछित हो तो बादाम उनके लिए बेहद कारगर औषधि का काम करती है।

  • 40 ग्राम छोटी इलायची
  • 50 ग्राम खसखस
  • 100 ग्राम मिश्री
  • 200 ग्राम बादाम गिरी

को अच्छे से मिलाकर पीस लें। और 3 चम्मच रात को सोने से पहले गर्म दूध के साथ सेवन करें। इस उपाय को लंबे समय तक करें। तभी आपको फायदा होगा।

शुक्राणुओं को बढ़ाने के लिए बादाम

  • 100 ग्राम बादाम
  • 100 ग्राम खसखस
  • 100 ग्राम सफेद तिल

को कूट लें और बाद  में 300 ग्राम बूरा मिलाकर गरम दूध के साथ रात को सोने से पहले एक फंकी लें।

इस उपाय को करने से शुक्राणु बढ़ते हैं और वीर्य गाढ़ा होता है। शुक्राणुओं की कमजोरी भी इस उपाय को करने से दूर होती है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।