आयुर्वेदिक टिप्स – कैसे बर्तन में खाएं खाना

kaise bartan me khana

भोजन करने के लिए आप बर्तन का प्रयोग करते हैं। आप में से कुछ लोग स्टील की थाली या प्लास्टिक की थाली में खाना खाते होगें। आयुर्वेद में खाना बनाने और खाना-खाने के लिए कौन से बर्तनों का इस्तेमाल करना चाहिए जिससे इंसान निरोगी रह सकता है उसकी वितस्तार से चर्चा की गई है। वैदिक वाटिका ने आयुर्वेद पर किए शोध के आधार पर आपको बता रही है कि इंसान को किस तरह के भोजन पात्र में भोजन करना चाहिए और किन में नहीं।

कांसे के बर्तन में

कांसे के बर्तन मे बना भोजन दिमाग को तेज करता है। साथ ही साथ भूख को भी बढ़ाता है। कांसे के बर्तन में खाना खाने से रक्तपित्त शान्त होती है।

चांदी के बर्तन में

चांदी के बर्तन में खाना खाने से दिमाग तेज होता है और आंखे स्वस्थ रहती हैं साथ ही पित्तदोष भी खत्म होता है।

सोने के बर्तन में

सोने के बर्तनों में बना खाना शरीर को ताकत देता है। पुरूषों के लिए सोने के बर्तन में भोजन करना बेहद फायदेमंद होता है। सोने के बर्तन में पका हुआ खाना शरीर को अंदर और बाहर से मजबूत बनाता है।

पीतल के बर्तन में 

पीतल के बर्तन में बना हुआ खाना कफ और कृमि रोग को खत्म करता है। पीतल में बना खाना वायु पैदा करता है।

लोहे के बर्तन में बना भोजन

बेहद शक्तिवर्धक और रोगों को खत्म करता है लोहे के बर्तन में बना हुआ भोजन। यह पाण्डु रोग को खत्म करता है। साथ ही कामला रोग को भी जड़ से खत्म करता है।

पत्तों में भोजन करना

पत्तल में खाना खाने से भूख बढ़ती है। और पेट की जलन खत्म होती है। आयुर्वेद के अनुसार पत्तल में खाना खाने से विष तक नष्ट होता है।

काठ

काठ में बनाया हुआ भोजन से भी भूख बढ़ती है लेकिन इससे कफ की समस्या हो सकती है।

जल पीने के लिए

पानी पीने के लिए तांबे का पात्र सबसे उत्तम माना गया है। इसके अलावा आप मिट्टी के बर्तन से भी पानी पी सकते हैं। तांबे के बर्तन में पानी पीने से रक्त संबंधी रोग नहीं होते हैं।

दूध पीने के लिए कौने से बर्तन प्रयोग करना चाहिए

लोहे के पात्र में दूध पीना अच्छा माना जाता है। आप मिट्टी के बर्तन में भी दूध का सेवन कर सकते हैं।

आयुर्वेद के अनुसार तांबे और पीतल के बर्तनों में खाना नहीं खाना चाहिए। इसके अलावा ऐलुमिनियम के बर्तनों में उबला या पका हुआ खाना नहीं खाना चाहिए। ऐसे में लोहा, कांसा और कांच के बर्तन खाना खाने के लिए अच्छे माने गए हैं।

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।