मधुमालती के फायदे

मधुमालती पेड़ का पौधा यह प्रकृति का पौधा है, ये बेहद फायदेमंद और किसी भी तरह का नुकसान नहीं करता . मधुमालती की बेल को घर पर भी लगाया जा सकता है । मधुमालती एक बहुत ही अच्छा प्रकृति का पौधा है । इसकी लताएं कम भूमि और कम पानी में अधिक हरियाली  व छाया देती है साथ ही रंग रंगीले फूलों से घर आंगन की शोभा को भी बढ़ती है ।  इसके फूल और पत्तियों का रस शुगर के रोगियो  के लिए बहुत अच्छा है . इसके फूलों से आयुर्वेद में वसंत कुसुमाकर रस नाम की दवा बनाई जाती है . सर्दी-जुकाम, प्रदर , प्रमेह पेट दर्द , और मासिक धर्म आदि सभी समस्याओं में ये पौधा बेहद फायदेमंद होता है.

रोग में मधुमालती के फायदे 
1- शुगर की बीमारी में मधुमालती  के फूल का जूस निकालें और सवेरे खाली पेट लें . या केवल इसकी 7 पत्तियों का रस ही ले लें . वह भी लाभ करेगा .
2- पेट दर्द में मधुमालती फूल और पत्तियों का रस लेने से पेट दर्द मई लाभ मिलता है  .
3- शरीर की कमजोरी में भी मधुमालती की पत्तियों और फूलों का रस ले सकते हैं .
4- सर्दी ज़ुकाम होने पर इसकी 1  ग्राम फूल पत्ती और 1 ग्राम तुलसी का काढ़ा बनाकर पीयें .
5- प्रदर में मधुमालती फूलों का रस 3-4 ग्राम मिश्री के साथ लें .

 लता संग हरियाली
ये पौधा न सिर्फ पर्यावरण संरक्षण का काम करता है , बल्कि घरों की खूबसूरती भी बढ़ता है । इसकी लताएं वातावरण से कार्बन डाई ऑक्साइड  अवशोषित कर हमें आक्सीजन देती  है, इनके पत्ते धूल के कण को रोक कर हवा में से धूल के कणों की मात्रा भी कम करते  हैं ।

तापमान को घटता है
मधुमालती भी एक ऐसी ही लता है जो साल भर हरी रहती है और इसकी लताओं के पत्ते पानी को वाष्पोत्सर्जित करते है जिस से  हवा का तापमान और सूखापन घटता है । मधुमालती की लताएं घनी होती हैं, इस कारण दीवारों पर धूप की मार कम पड़ती है । जिससे  घरों का तापमान सामान्य बना रहता है ।  और इसके फूलों के गुच्छों खुशबू आती रहती है जो रूम फ्रेश्ननर का कम करती है ।

मधुमालती के पौधे की ये लाभ कम ही लोगो को पता है । ये पौधा बीमारिया तो दूर करता ही है साथ ही साथ घर को भी फ्रेश और प्राकर्तिक वातावरण भी देता है जो सेहत के लिए बेहद जरूरी है।

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।