गुग्गुल के लाभ

कई तरह की बीमारियों को खत्म करने की सबसे बेहतर और कारगर औषघि है गुग्गुल। यह एक पेड़ की प्रजाती है। जिसके छाल से जो गोंद निकलता है उसे गुग्गुल कहा जाता है। इस गोंद के इस्तेमाल से आप कई तरह की बीमारियों से बच सकते हो। गुग्गुल एक तरह का छोटा पेड है इसकी कुल उंचाई 3 से 4 मीटर तक होती है। और इसके तने से सफेद रंग का दूध निकलता है जो सेहत के लिए बेहद उपयोगी होता है।

गुग्गुल का स्वभाव

गोंद जिसे गुग्गुल कहा जाता है उसका रंग लाल व काला होता है। इसका स्वाद कडुआ होता है। लेकिन सेहत के तौर पर आपके लिए बेहद लाभकारी है। आइये जानते हैं गुग्गुल से कैसे दूर होते हैं रोग और इसके फायदे।

मोटापा कम करने में
गर्म पानी में एक ग्राम गुग्गुल मिलाकर दिन में तीन बारी सेवन करें। एैसा रोज करने से मोटापा घटने लगता है।

पेट की सूजन
गुड़ के साथ गुग्गुल मिलाकर दिन में तीन बार रोज खाएं। एैसा नियमित करने से पेट की सूजन ठीक होने लगती है।

मुंह संबंधी समस्याएं
गुग्गुल को पानी में घोलकर दिन में तीन बारी गरारे व कुल्ला करने से मुंह के अंदर के छाले, जलन और किसी भी तरह का घाव आदि ठीक हो जाते हैं।

गंजेपन से मुक्ति
सिरके को गुग्गुल के साथ अच्छे से घोटकर लेप बना लें और सुबह शाम रोज इसे सिर पर जहां गंजापन हो वहां लगाएं। एैसा करने से धीरे-धीरे बाल उगने लगते हैं।

हड्डियों के लिए
हड्डियों की सूजन व चोट व दर्द होने पर गुग्गुल का सेवन करना चाहिए। यह हड्डियों  की परेशानियों में राहत देता है।

घुटने का दर्द
घुटने के दर्द को दूर करने के लिए 20 ग्राम गुड़ में 10 ग्राम गुग्गुल को मिलाकर अच्छे से पीस लें और इसकी छोटी-छोटी गोलियां बना लें। कुछ दिनों तक 1-1 गोली सुबह शाम घी के साथ लें।

दमा रोग में
दमा से परेशान लोगों को घी के साथ एक ग्राम गुग्गुल को मिलाकर सुबह-शाम लेने से फायदा मिलता है।

घाव भरता है
नारियल तेल में गुग्गुल के चूरन को मिलाकर लेप बनाकर इसे घाव वाली जगह पर लगाएं। एैसा दिन में तीन बारी करें। यह घाव ठीक कर देता है।

कान की समस्या
कान में यदि कीड़ा चला गया हो तो गुग्गुल को जलाकर उसका धुंआ कान में लें। एैसा करने से कान के अंदर के सभी कीड़ें खत्म हो जाते हैं।

सूजन और पुरानी कब्ज में लाभ
यदि कब्ज की समस्या ठीक न हो रही हो तो 5 ग्राम त्रिफला और 5 ग्राम गुग्गुल को मिलाकर गर्म पानी में घोल लें। और रात को सोने से पहले इस पानी को पीयें। यह पुरानी कब्ज की शिकायत दूर करती है। साथ ही शरीर में किसी भी तरह की सूजन भी ठीक होने लगती है।

गर्भ संबंधी फायदे
गुड के साथ गुग्गुल को खाने से गर्भ से संबंधित समस्याएं जैसे गर्भशाय के रोग ठीक होते हैं।

त्वचा संबंधी फायदे
चेहरे में होने वाली समस्याएं जैसे फोड़े व फुंसी आदि को दूर करने के लिए शुबह शाम गुग्गुल के चूर्णं को पानी के साथ सेवन करें।

थायराइड
गुग्गुल थायराइड की समस्या दूर करता है। यह शरीर से कैलोरी को जलाता है जिससे थायराइड की समस्या दूर होती है।

कोलेस्ट्रोल
गुग्गुल का नियमित सेवन से कोलेस्ट्रोल 2 से 3 महीने में घट जाता है।

जोड़ों के दर्द में
जिन लोगों को जोड़ों की समस्या है वे गुग्गुल का सेवन जरूर करें। यह जोड़ों के दर्द से निजात दिलाता है। साथ ही साथ जोड़ों के लचीलेपन को भी ठीक रखता है।

गुग्गुल को साफ करने का तरीका
गुग्गुल को साफ करने के लिए इसे दूध व त्रिफला के काढे में पका लें और इसे छानकर और सुखाने के बाद ही यह साफ गुग्गुल बनता है।

सावधानी
गुग्गुल का सेवन जरूरत से ज्यादा नहीं करना चाहिए। इससे शरीर में कई तरह की समस्याएं आ सकती हैं जैसे सूजन, दस्त, बेहोशी और कमजोरी आदि। गुग्गुल की तासीर गर्म होती है इसलिए जब भी इसका प्रयोग करें तो खट्टी चीजों, तेज मसालेदार भोजन का प्रयोग न करें। इसके अलावा गाय के दूध के साथ ही गुग्गुल का सेवन करें। साथ ही आपको दिन में नहीं सोना है और रात को अधिक नहीं जगना, ज्यादा भोजन करने से बचना व गुस्सा आदि से बचना है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।