अंगूर खाने के फायदे

अंगूर प्राकृतिक फल है। यह हर तरह से आपके लिए फायदा करता है। अंगूर की कई तरह की प्रजातियां हैं। जैसे लंबे अंगूर, काले अंगूर, छोटे अंगूर आदि। इन्ही अंगूरों से किशमिश बनाई जाती है। अंगूर में कैलोरी, फाइबर के साथ-साथ विटामिन सी, ई और के भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसलिए अंगूर प्राकृति का एैसा फल है जिसमें हर तरह के उत्तम गुण हैं जो सेहत और उम्र को बढ़ाने में मददगार होते हैं। इस लेख के माध्यम से आपको अंगूर में छिपे सेहत के राज के बारे में बताया जाएगा जो कई रोगों को दूर करने में आपकी मदद करेगें।

अंगूर में ग्लूकोज, मेग्नीशियम और साइट्रिक आदि जैसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं। अंगूर कई रोगों में लाभ देता है जैसे टी बी, कैंसर, रक्त विकार और पारिया जैसे रोगों का अंत करने में लाभदायक है। साथ ही अंगूर का प्रयोग बच्चे, युवा, कमजोर और गर्भवती महिलाओं के लिए भी फायदा करता है।

डायबिटीज
जिन लोगों को डायबिटीज है उनके लिए अंगूर सेवन करना हितकारी है। अंगूर शूगर की मात्रा को कम करता है। खून में मौजूद शूगर को नियंत्रित करने में अंगूर अहम भूमिका निभाता है।
अंगूर खून की कमी और आयरन की कमी को दूर करता है।

 माइग्रेन

जिन लोगों को माइग्रेन की समस्या है वे सुबह उठकर अंगूर का रस पीयें। एैसा कुछ दिनों तक करने से माइग्रेन की समस्या से निजात मिल सकता है।

 ब्रेस्ट कैंसर

हाल ही में हुए नये शोध में यह बात सामने आई है कि ब्रेस्ट कैंसर जैसी घातक बीमारी को रोकने में अंगूर सेवन एक कारगर उपाय है। साथ ही हर्ट अटैक के रोग से बचने के लिए काले अंगूर का जूस पीने से लाभ मिलता है। काले अंगूर का रस खून के थक्कों को बनने से रोक देता है।
अंगूर का रस पीने से दिल में हो रहे दर्द में आराम मिलता है।

 कब्ज और भूख 

कब्ज को खत्म करने के लिए काली मिर्च और नमक को अंगूर में डालकर सेवन करना चाहिए।
भूख बढ़ाने में भी अंगूर एक कारगर नुस्खा है। विटामिन ए की भरपूर मात्रा होने पर यह भूख को बढ़ाने में मदद करता है।

 खून की कमी                        READ : बादाम के फायदे – पुरूषों के लिये

खून की कमी को दूर करने के लिए एक गिलास अंगूर के जूस में 2 चम्मच शहद मिलकार पीने से खून की कमी पूरी हो जाती है।
अंगूर हीमोग्लोबिन को बढ़ाता है। इसलिए अंगूर का एक गिलास जूस अवश्य पीयें।

 याददास्त

याददास्त को बढ़ाने के लिए अंगूर के रस की 2 चम्मच सुबह और 2 चम्मच शाम को पानी के साथ मिलाकर, खाना खाने के बाद लें। यह आपकी कमजोर याद शक्ति को बढ़ाएगा।

 रक्त स्त्राव

शरीर से खून निकलने से या रक्त स्त्राव होने पर शहद के दो चम्मच एक गिलास अंगूर के  जूस में मिलाकर पीएं। यह रक्त स्त्राव की वजह से हुई खून कमी को दूर करता है।

इनफेक्शन                                   

नियमित रूप से अंगूर का जूस पीने से शरीर की अल्जाइमर और वाइरल जैसे इन्फेक्शन से लड़ने की क्षमता बढ़ जाती है।

फोड़े-फुंसी

त्वचा संबंधित समस्याओं जैसे मुंहासे, फोड व फुंसी आदि को सुखाने का काम करता है अंगूर।

उल्टी होने पर

उल्टी की समस्या हो या जी मिचला रहा हो ऐसे में काली मिर्च और थोड़ा सा नमक को अंगूर के रस में मिलाकर पींए। 

बालों और आंखों को भी स्वस्थ रखता है अंगूर का सेवन।

मुंह के छाले

अंगूर मुंह के छालों से भी मुक्ति दिलता है। अंगूर के रस से कुल्ला करने से मुंह से संबंधित रोग जैसे घाव और छाले दूर हो जाते हैं।

पेट की गर्मी मे अंगूर के फायदे

पेट में हो रही गर्मी को ठीक करने के लिए बीस अंगूरों को रात में पानी के साथ भिगों लें और सुबह इन्हें मसलकर इस रस में हल्की सी चीनी मिलाकर इसका सेवन करें।

 

पेट संबंधी रोग में अंगूर के फायदे

रात को खाना खाने के कम से कम आधा घंटे के बाद अंगूर के रस का सेवन करें। इस उपाय से पेट फूलना, गैस और बदहजमी की समस्या ठीक होती है।

 

अंगूर का गूदा

अंगूर के गूदे में विटामिन ए के साथ-साथ इसमें ग्लूकोज और शर्करा भी होते हैं जो त्वचा, आंखों और बालों के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं।

 

गुर्दे की समस्या में अंगूर

पचास ग्राम पानी में अंगूर के ताजे पत्तों को पीस लें और उसमें हल्का सा नमक मिला लें। और इसे छान कर पीएं। इस उपाय से गुर्दे के दर्द में आराम और राहत मिलती है।

 

बीमारियों में अंगूर

  • अल्जाइमर, वायरल, फंगल इन्फेक्शन, कोरोनेरी हार्ट डिजीज और नर्व डिजीज की समस्या को ठीक करता है अंगूर।
  • अंगूर खाने से चेचक के रोगी को फायदा मिलता है।
  • ब्लड प्रेशर के मरीजों को अंगूर खाना  चाहिए। इससे ब्लड प्रेशर सामान्य रहता है। 
  • जुकाम में भी अंगूर फायदा देता है। पचास ग्राम अंगूर खाने से जुकाम से राहत मिलती है।

 

 अंगूर वैदिक दृष्टि से अनोखा फल है। इसलिए अंगूर को किसी न किसी रूप में अपने भोजन में शामिल करें। अंगूर आपको हमेंशा रोगमुक्त रखेगा साथ कई तरह की समस्याओं से भी निजात दिलवाएगा।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।