अच्छी जिंदगी गुजारने के आसान तरीके

हर इंसान चाहता है उसकी खुद की जिंदगी में वह कुछ एैसी चीजें करे जिससे उसे वह पल हमेशा याद रहें और जब वह बूढ़ा हो तो उसे किसी तरह का कोई पछतावा न हो। उम्र के साथ जीवन में जब जिम्मेदारियां बढ़ती है तब इंसान को लगता है कि काश मैने ये कार्य किए होते तो अब कोई पछतावा  ना होता। ये बात हम आपको कई बड़े-बूढ़ों के अनुभवों के आधार पर बता रहे हैं। पछतावे में जीना भी कोई जीना है यदि आपको यह बात पता हो कि आपको अपने लिए कौन-कौन से काम करने हैं। ताकि बाद में कोई पछतावा ना रहे।
पैसे खर्च करना
जवानी के दिनों में अक्सर पैसे आते ही हम खूब पैसे उड़ाते हैं। लेकिन यदि आपको ये बात पता चल जाए कि आगे आने वाला समय बेहद मंहगा हो सकता है। तब आपको पैसों की जरूरत पड़ सकती है। इसलिए पैसे बचाने की कोशिश करें। उम्र बढ़ने के साथ खर्च भी बढ़ता है। समय पर बचाया गया पैसा हमेशा काम आता है।

अपने शरीर को फिट रखना
शरीर को फिट रखना बहुत जरूरी है इससे एक तो आपकी सेहत ठीक रहेगी और दूसरा लोग भी आपकी तारीफ करेगें। और जब आप चालीस पार हो जाओ तो शरीर आपका साथ दे। इसके लिए रोज सुबह योग और दौड जरूर करें। साथ ही मेडिटेशन भी।

जल्दी शादी करना
घरवालों के दबाब या किसी प्रेम प्रसंग के चक्कर में फंसकर यदि जल्दी शादी हो जाती है तो यह आपके लिए समस्या बन सकती है क्योंकि तब आपका अपने आप से ध्यान हट जाता है और जिम्मेदारियों के चक्कर में फंसकर हमेशा जीवन भर पछतावा करना पड़ता है।
मन को सकून देने वाला काम
आपको जो चीज अच्छी लगती है या जिस काम को करने में मजा आता है वो न किया तो सारा जीवन पछतावे में भी बिताना पड़ेगा।आपकी कोई कला हो उसे उभारें। किसी काम को शुरू करना चाहते हैं उसे शुरू करें आदि।

अपने प्यार को जाहिर न करना
जिस लड़की को प्यार किया और उससे कहने में डरते रहे। तो इसका भी आगे चलकर आपको पछतावा होगा। शादी तो आपको करनी ही है। इसलिए एक बार जरूर कोशिश करें चाहे वह आपको चाहती हो या ना चाहती हो। लेकिन आप अपनी तरफ से सकून महसूस तो कर सकें।

गलत आदतों को ना छोड़ना
कम उम्र में यदि आपको गलत आदतें लग गई हों जैसे धूम्रपान और शराब पीना आदि ( धूम्रपान छोड़ने के उपाय ) और समय पर ये चीजें न छूटने की वजह से जब आप 40 की उम्र पार कर जाओगे तब कई सारी बीमारियां आपको लग सकती हैं। जिससे आगे की सारी लाइफ पछतावे में काटनी पड़ेगी।

परिवार को टाइम न देना
इंसान जब काम में व्यस्त हो जाता है तो तब उसे केवल अपना कार्य ही दिखता है वह अपने परिवार को भी समय नहीं दे पाता है। ऐसे में जरूरी है कि अपने परिवार के साथ जरूर समय बिताएं।

मन पंसद वाली जगहों पर ना जाना
इस बात को तो आप जरूर ध्यान रखें काम कभी खत्म नहीं होता है। इसलिए समय निकालें और जहां आप जाना चाहते हैं वहां जाने के लिए पैसे जमा करें और जरूर घूम कर आएं।

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।