आत्मविश्वास बढ़ाने के उपाय

esteem-self-liberationstrength-self-confidence-in-hindi

यदि इंसान के अंदर आत्मविश्वास होता है तो वह बड़ी से बड़ी समस्याओं को पार कर लेता है। वह जो चाहता है उसे वह मिल जाता है। लेकिन आजकल लोगों में आत्मविश्वास की बड़ी कमी देखी जाती है। वे एक बने बनाए गए तरीके पर ही चल रहें हैं। परिवर्तन से डरते हैं। क्योंकि उन्हें अपने उपर विश्वास ही नहीं होता है। लेकिन चिंता न करें हम आपको बताते हैं आखिर कैसे आप अपने अंदर आत्म विश्वास को जगा सकते हैं।

अपने मन से नकारात्मक सोच निकालें
यदि जिंदगी में आप कुछ पाना चाहते हैं तो अपनी गलत सोच को भी अच्छी सोच में बदलें। एैसा करने से आपके अंदर आत्मविशवास की ताकत काम करने लगेगी।

 जिम्मेदार बनें
आप चाहे स्कूल में पढ़ते हो या फिर जाॅब करते हो। आप धीरे.धीरे छोटी.छोटी जिम्मेदारियों को लेना शुरू कर दें और उस जिम्मेदारी को पूरे जोश के साथ करें। जैसे आज में दो घंटे ज्यादा पढ़ सकता हूं या आॅफिस में किसी कठिन काम को करने के लिए अपना मन बनाएं। एैसा करने से आपके अंदर आत्मविश्वास आने लगेगा।

आखों में आंखे डालकर बात करना सीखें
आत्मविश्वास के लिए यह जरूरी है कि आप आंखों में आंखें डालकर कर बात करें। इससे एक तो आपके अंदर का डर खत्म होगा दूसरा आपको अपने उपर भरोसा करना आएगा।

सपनों को देखें
जितना हो सके अपने सपनों को एक रूप देने की कोशिश करते रहें। आप कल्पना के आधार पर भी अपने सपनों को उड़ान दे सकते हैं।गलती करनी भी जरूरी है
जब तक गलतियां नहीं करोगे तब तब आत्मविशवास आपके अंदर नहीं आएगा। गलतियों से जो सीख मिलती है वो आपको असली इंसान बनाती है। किसी भी गलती से सीखें। और गलतियां करें। लेकिन एक ही गलती दोबारा नहीं करें।

खुद के साथ झूठ न बाेलें
अपने अंदर की किसी भी तरह की कमी को खुद के साथ शेयर करें। खुद से बात करें हर उस चीज को मानें जो आपके अंदर है। यदि आपके अंदर कोई कमी है तो उसे अपने से ना छुपाएं उसे मानें और उस कमी पर काम करें।

अपनों से बात करें
यदि आप बाहर लोगों से बात करने में डरते हैं तो इसकी शुरूआत आप अपने घर के सदस्यों और दोस्तों से करें। मजाक बनने से ना डरें। अच्छी तरह से हर चीज काे फेस करें।

समय के अनुसार बदलें
यदि आप समय के अनुसार अपने आप को नहीं बदल सकते हो तो इससे आपके अंदर कभी भी आत्मविश्वास नहीं आएगा। समाज में जैसे चल रहा है उसकी तरह से बात करनाए उसी तरह के माहोल को फेस करना आदि आपको करना चाहिए। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप बदलते समाज के अनुसार गलत चीजों को भी अपनाने लगें।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।