चावल खाने के नुकसान

चावल खाने के नुकसान विस्तार में जाने आपकी सेहत के लिए

चावल भोजन का एक अहम हिस्सा माने जाते हैं। जिसे भारतीय लोग तो बहुत अधिक चाव के साथ खाते हैं। अगर उनकी थाली में चावल न हो तो समझ लें कि उनकी थाली अधूरी है। चावल खाने के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं चावल भले ही जल्दी ही पच जाते है इसका कारण यह है कि इसमें में कार्बोहाइड्रेट की उच्च मात्रा पाई जाती है। अगर आप  पेट से जुडी किसी प्रकार की समस्या से पेशान हो तो ऐसे में चावल आपके लिए बहुत ही उपयोगी सिद्द होते हैं।

चावल का सेवन करने से हमें कई तरह के लाभ प्राप्त होते हैं। लेकिन जब हम चावल का अधिक मात्रा में या फिर हम अगर रोज सेवन चावल खाते हैं तो हमें कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि इसमें कार्बोहाइड्रेट की उच्च मात्रा के इलावा किसी प्रकार का कोई पोष्टिक तत्व मौजूद नहीं होता। यह अस्थमा, मधुमेह के रोगियों के लिए भी हानिकारक सिद्द हो सकते हैं। चलिए जाने  चावल खाने के नुकसान  के बारे में विस्तार से :

चावल खाने के नुकसान

आलस्य को बढ़ता है

चावल खाने के नुकसान में एक नुकसान यह हैं कि इससे हमारे जीवन में आलस्य आता है। जब भी हम चावल का सेवन करते हैं तो शरीर में आलस्य का आना एक आम बात है। जो लोग खाना खाने के बाद काम करते हैं उनके लिए चावल का सेवन सही नहीं होता।

चावल खाने के बाद शरीर में शुगर की मात्रा बहुत ही तेजी के साथ बढ़ती है। जिससे नींद आनी शुरू हो जाती है और शरीर में आलसपन होने लगता है इसलिए जो लोग खाना खाने के बाद काम करते हैं। उन्हें चावल से दुरी बना कर रखनी चाहिए।

मधुमेह रोगी में शर्करा के स्तर को बधा देते हैं

चावल का अधिक मात्रा में सेवन मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत ही नुकसानदायक हो सकता है। जब मधुमेह से पीड़ित लोग चावल का अधिक सेवन करते हैं तब इससे उनके  से शरीर में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ जाती है और शुगर हाई लेवल तक पहुंच जाता है। इसलिए मधुमेह रोगियों को चावल न खाने की सलाह दी जाती है।

यदि वो चावल के बिना नहीं रह पाते। तो उन्हें ब्राउन राइस का इस्तेमाल करना चाहिए। क्योंकि ब्राउन राइस पोलिश वाले चावल की तुलना में कम नुकसान देने वाले होते हैं।

पोषक तत्वों की कमी

चावल में भले ही कार्बोहाइड्रेट की उच्च मात्रा में पाई जाती है। लेकिन इसके इलावा इसमें कोई अन्य पोषक तत्व मौजूद नहीं होता। यही कारण है कि चावल का सेवन करके शरीर को किसी प्रकार का अधिक फायदा नहीं मिलता। चावल खाने के बाद हमें भूख भी जल्दी हो लग पडती है। इसलिए जब भी भोजन करें तो अकेले चावल ही लेना उचित नहीं है।

अस्थमा में नुकसानदायक

अस्थमा से पीड़ित लोगों को चावल न खाने की सलाह दी जाती है।इसका कारण यह हैं कि  चावल की तासीर ठंडी होती है जिससे अस्थमा के मरीजों में सांस की समस्या पैदा हो सकती है। चावल खाने से अस्थमा की समस्या का खतरा 90 प्रतिशत तक बढ़ जाता है इसलिए जितना हो सकें। अस्थमा के रोगी के लिए यहीं सही हैं कि वो चावल से दूर रहें।

मोटापा बढाए

चावल में फैट अधिक होने के कारण यह मोटापे का एक कारण बन सकता है। इसलिए जो लोग पतला होना चाहते हैं। उन्हें चावल से दुरी बना कर रखनी चाहिए और जो मोटापे से ग्रस्त लोग होते हैं उनके लिए चावल बहुत ही नुकसानदायक होते हैं। इसलिए चावल का सेवन सोच समझ कर ही करना चाहिए।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।